Pradhan Mantri Gram Sadak Yojana 2023

Pradhan Mantri gram sadak yojana [ PMGSY  ]

PMGSY scheme अर्थात् Pradhan Mantri gram sadak yojana [ PMGSY] एक ऐसा scheme  है जिसके तहत पूरे भारत के सभी रोड को जोड़ने का काम किया जाएगा ये एक ऑल इंडिया नेशनवाइड योजना है । जिसको सर्वप्रथम 25 december 2000 को उस समय के तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री atal bihari vajpayee के द्वारा launch किया गया था । 

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना का मुख्य उद्देश्य ये है की एक ऐसा रोड नेटवर्क का बिकास किया जाये जो भारतबर्ष के सभी मौसम में और सभी unconnected गाओ को जोड़ा जा सके । इस योजना को ministry of rural development के under इस स्कीम को लाया गया ।

pradhanmantri gram sadak yojana phase 2  यह एक centrally sponsored scheme है । इस स्कीम के तहत केंद्रीय सरकार को ६० % का खर्च उठाना पढ़ता है  तो वही पर राज्य सरकार को ४०% का खर्च उठाना पढ़ता है परंतु ये केवल ऐसे राज्यो के लिए है जहां पर हिमाली छेत्र , मरुभूमि छेत्र  और नक्सल बादी  एरिया नहीं है ।

जहां पर भी ऐसे राज्य जिन राज्यो में मरुभूमि छेत्र , हिमाली छेत्र  और नक्सलबादी छेत्र  पड़ता है वहाँ पर केंद्रीय सरकार और राज्य सरकार के बीच ९० : १० का ratio में लागत का खर्च को ब्यहोरा जाता है जिस्म उत्तर पूर्व के ८ राज्य पड़ते है और तीन हिमालयन राज्य जैसे की jammu kashmir , हिमाचल प्रदेश और उत्तराखण्ड इन राज्यो में केंद्र सरकार की ९० % लागत रहेगी और राज्य सरकार की १० % 

Pradhan Mantri gram sadak yojana [ PMGSY  ]

PMGSY [ pradhan mantri gram sadak yojana ] एक महत्वकांछी योजना है जिसको विभिन्न फेज यानी चरणों में पूरा किया जा सकता है । जिसके लिए phase1 , phase2 and phase3 माध्यम से २०२५ तक समाप्त करने की किसीस या यू कहे तो टारगेट रखा गया है ।तो चलिए हम नीचे सभी चरणों के बारेमे जानते है । PMGSY Scheme के बारेमे जनने के लिए कृपया इस आर्टिकल को पूरा पढ़िए ।

Pradhanmantri gram sadak yojana अन्तर्गत प्रतिदिन का एवरेज raod construction एक दिन में 98.5 किलोमीटर का था वह भी साल २००४ से २०१४ तक मगर हम सब के चहिते प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र दामोदर दास  मोदी जी के नेतृत्ववाली सरकार में ये एवरेज स्पीड बढ़ कर १३० किलोमीटर प्रति दिन हो चुका है और ये डेटा भी आज का नहीं बल्कि २०१४ से लेकर २०१७ का है सोचिए अभी कितना हुवा होगा ।

Objective of Pradhan Mantri gram sadak yojana [ PMGSY]

  जैसा के हमने ऊपार ही बताया की PMGSY SCHEME  एक नेशन वाइड योजना है जिस के तहत सभी देशबशियों को सभी मौसम में सभी गाओ देहातों को जोड़ा जाएगा और यही इस योजना मुख्य उद्देश्य है । और इस योजना को देश के विभिन्न उत्तर पूर्व राज्य , हिमाली राज्य , केंद्र साशित राज्य और बिहार में भी लागू किया गाया है । या फिर यू कहे तो पूरे देश भर में लग्गू किया गाया है । मगर इस प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना के पात्रता के लिए कुछ ज़रूरी मापदंड भी बनाये गये है चलिए उसे को हम नीचे बिस्तार से जानते है ।

Pradhan Mantri Gram Sadak Yojana

Eligibility for Pradhan Mantri gram sadak yojana 

इस योजना में समील होने के लिए सरकार ऐसे राज्यो को ज़्यादा महत्व देती है जिन राज्यो में ज़्यादा jan संख्या है  और  जिन राज्यो के रोड ज़्यादा लोगो और ज़्यादा गावो को जोड़ती है । इसी के साथ २००१ के census के अनुशर जिन समतल एरिया की पॉपुलेशन ५०० या उस से अधिक है वह एरिया इस योजना के तहत आएगी और अहि पर ऐसे एरिया जैसे की hill state , desert , और tribal एरिया जहां की पॉपुलेशन २५० हो ।

PM Gram Sadak Yojana Hightlights 

योजना का नाम Pradhan Mantry Gram Sadak Yojana 
launched by shree Atal Bihari Vajpayee 
launched date 25 december 2000
योजना टाइप नेशनवाइड , centrally sponsored scheme 
statusActive
official website https://omms.nic.in/

PMGSY PHASE 1

PMGSY की पहिला फेज दिसंबर २५ २००० में किया गया जिसके तहत १३५,४३६ habitation को target किया गया था वही पर अगर Road की बात किया जाये तो ३.६८ लाख किलोमीटर रोड को अपग्रेड किया गया था और इस फेज में मैं फोकस नई  नई  सड़के बनाना था जिस्म सभी लागत केंद्र सरकार की होती थी वही पर अगर बात upgradation की किया जाये तो इस कार्य में केंद्र और राज्य सरकारों में ६० : ४० के अनुपात में लागत को बाटा गया था । 

PMGSY PHASE 2

पीएमजीसी फेज २  को सरकार के द्वारा मई २०१३ को अप्रूव्ड किया गया 

  • यह एक ५ बर्ष योजना था 
  • इस में ५०००० किलोमीटर लंबाई रोड बनाने का लक्ष्य लिया गया था 
  • इस फेज में road  upgradation के लिए केंद्र सरकाए के द्वारा कुल लागत का ७५% भर उठाया गया था 
  • राज्य सरकार की तरफ़ से केवल २५% का लागत भर उठाया गया था road upgradation कार्य में 
  • वही पर अगर बात पहाड़ी एरिया , रेगिस्तानेवाली एरिया , schedule v areas और नक्सल एरिया में केंद्र सरकार के द्वारा ९०% और राज्य सरकार के द्वारा १०% का आर्थिक भर उठाया गया था
  • कैबिनेट कमेटी के द्वारा phase १ और फेज २ को नवंबर २०२१ से सेंप्टेम्बर २०२२ तक के लिए अप्रूव्ड किया गया था ।

Pradhan Mantri Gram Sadak Yojana phase 3

  • कैबिनेट के द्वारा जुलाई 2019 को approved किया गया 
  • इस के तहत रूरल लिंक्स,एग्रिकल्चरल मार्केट ,हायर सेकेंड्री स्कूल और हॉस्पिटल से होने वाली सभी रूट को टारगेट किया गया था 
  • इस फेज में 125000 किलो मीटर की लंबाई की रॉड टारगेट किया गया था ।
  • इस का duration पीरियड 2019 – 2020 से 2024- 2025 तक का है .
  • इस फेज के अन्तर्गत केंद्र सरकार और राज्य सरकार के बीच ६०:४० के अनुपात में आर्थिक भर उठाया गया 
  • इस में 8 उतर – पूर्व और तीन हिमालयन स्टेट के लिए ९०:१० के अनुपात में आर्थिक लागत भार उठाया गया 
  • इस फेज के टारगेट को पूरा करने के लिए सरकार को 80,225  करोड़ की भर आएगी जिसको ६०:४० और ९०:१० स्थान के अनुसार शेयर किया जाएगा ।

PMGSY STATISTICS [ Pradhan Mantri Gram Sadak Yojana ]

*as per the official website 

No.of work cleared185,987
New connectivity work 119,360
Upgradation work 66,627
Completed road work176,182
Completed lenght741,458 km
In progress9,805
Complaints registered on meri sadak app138,025

Conclusion

आप सबसे इस अरिकल के ज़रिए Pradhan Mantri Gram Sadak Yojana [ PMGSY ] के बरेमे जाना उम्मीद है आप सबको ये आर्टिकल पसंद आया होगा । अगर आपको ये लेख अछा लगा तो शेयर करना ना भूलिए गा अपने दोस्त और अहबाब के साथ और अपनी ज़रूरी राय या फीडबैक हम को देना ना भूलिएगा ।धन्याबाद ।

FAQ 

  1. What is PMGSY fulll form ?

    PMGSY stand for pradhan mantri gram sadak yojana 

  2. What is PMGSY OMMAS ?

    PMGSY OMMAS stands for pradhan Mantri gram sadak yojana online management monitoring and accounting system.

  3. Who is responsible for the implementation of PMGSY?

    The Ministry of rural development and state government is responsible for implementing this scheme.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top